Heart Broken Shayari

Usane Samundar ki Gaharayi Nahi Dekhi

Usane Samundar ki Gaharayi Nahi Dekhi

आँखों में रहा, दिल में उतर कर नहीं देखा कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा.. Aankhon Me Raha, Dil Me Utarkar Nahi Dekha Kashti ke Musafir Ne Samundar Nahi Dekhi Patthar Mujhe Kahta Hai, Mera Chahne Wala Mai …

Usane Samundar ki Gaharayi Nahi Dekhi Read More »

Wo Hame Pahechan Na Sake

गुजारिश हमारी वह मान न सके मज़बूरी हमारी वह जान न सके कहते हैं मरने के बाद भी याद रखेंगे जीते जी जो हमें पहचान न सके Gujarish Hamari Wo Man Na Sake Majaburi Hamari Wo Jan Na Sake Kahte Hai Marne Ke Bad Bhi Yaad Rakhenge Jite Ji Jo Hame Pahechan Na Sake दर्द …

Wo Hame Pahechan Na Sake Read More »

Tu Dil Lagane Ke Kabil Nahi Hai

Tu Dil Lagane Ke Kabil Nahi Hai

बेवफा तेरा मासुम चेहरा, भुल जाने के काबिल नही। है मगर तु बहुत खुबसुरत, पर दिल लगाने के काबिल नही है Bewafa Tera Masum Chehara, Bhul Jane Ke Kabil Nahi Hai, Hai Magar Tu Bahut Khubsurat, Par Dil Lagane ke Kabil Nahi Hai. दोस्त बन बन के मिले मुझको मिटाने वाले, मैंने देखे हैं कई …

Tu Dil Lagane Ke Kabil Nahi Hai Read More »

Dard Bhari Shayari

Kismat Mein Hi Dard Likha Tha

तू हजार बार रुठेगी फिर भी तुझे मना लूँगा … तुझसे प्यार किया हे कोई गुनाह नही, जो तुझसे दूर होकर खुद को सजा दूँगा Tu Hajar Bar Ruthegi Fir Bhi Tujhe Mana Loonga … Tujhse Pyar Kiya Hai Koi Gunah Nahi, Jo Tujhase Door Hokar Khud Ko Saja Doonga ख्वाहिश तो ना थी किसी …

Kismat Mein Hi Dard Likha Tha Read More »

Aapko Kabhi Bewafa Na Samjha

Aapko Kabhi Bewafa Na Samjha

आपकी नशीली यादों में डूबकर हमने इश्क की गहराई को समझा आप तो दे रहे थे धोखा और हमने जानकर भी कभी आपको बेवफा न समझा। Aapki Nashili Yado Mein Dubkar Hamne Ishq ki Gaharayi Ko Samjho Aap to Rahe the Dhokha Aur Hamne Jankar Bhi Kabhi Aapko Bewafa Na Samjhna इंसानो के कंधो पर …

Aapko Kabhi Bewafa Na Samjha Read More »

Tu Bewafa Kaha Tak Hai

Tu Bewafa Kaha Tak Hai

ना पूछ मेरे सब्र की इंतहा कहाँ तक है तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी हमें तो देखना है तू बेवफ़ा कहाँ तक है। Na Puchho Mere Sabr ki Inteha tak Hai Tu Sitam Kar Le Teri Hasarat Jaha tak Hai Wafa Ki Umeed Jinhe …

Tu Bewafa Kaha Tak Hai Read More »

Ye Tan Ban Gaya Kankal Jaisa

Ye Tan Ban Gaya Kankal Jaisa

क्या बताऊँ मेरा हाल कैसा है एक दिन गुज़रता है एक साल जैसा तड़पता हूँ इस कदर बेवफाई में उसकी ये तन बनता जा रहा कंकाल जैसा Kya Batau Mera Hal Kaisa Hai Ek Din Gujarta Hai Ek Saal Jaisa Tadapta Hu Is Kadar Bewafai me Usaki Ye Tan Banta Ja Raha Hai Kankal Jaisa …

Ye Tan Ban Gaya Kankal Jaisa Read More »

Rab Se Aapki Wafa Mangenge

Rab Se Aapki Wafa Mangenge

चाँद निकलेगा तो दुआ मांगेंगे अपने हिस्से में मुकदर का लिखा मांगेंगे हम तलबगार नहीं दुनिया और दौलत के हम रब से सिर्फ आपकी वफ़ा मांगेंगे! Chand niklega to Dua Mangenge Apane Hisse Me Mukaddar Ka Likha Mangenge Ham Talabgar Nahi Duniya aur Daulat Ke Ham Rab Se Sirf Aapki Wafa Mangenge मेरे प्यार को …

Rab Se Aapki Wafa Mangenge Read More »

Teri Bewafai Ko Bhulana Sakenge

Teri Bewafai Ko Bhulana Sakenge

मेरी तक़दीर में जलना है तो जल जाऊँगा तेरा वादा तो नहीं हूँ जो बदल जाऊँगा मुझको समझाओ न मेरी जिंदगी के असूल एक दिन मैं खुद ही ठोकर खा के संभल जाऊँगा Meri Taqadir Mein Jalna Hai To Jal Jaunga Tera Wada To Nahi Hun Jo Badal Jaunga Mujhko Samajhao Na Meri Jindagi Ke …

Teri Bewafai Ko Bhulana Sakenge Read More »

Bewafai Ke Pichhe Bhi Koi Raaj Hai

Bewafai Ke Pichhe Bhi Koi Raaj Hai

दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है! Do Dilon Ki Dhadakanon Mein Ek Saz Hota Hai Sabko Apani-Apani Mohabbat Par Naz Hota Hai Usme Se Har Ek Bevapha Nahin Hota Usaki …

Bewafai Ke Pichhe Bhi Koi Raaj Hai Read More »