Hum Aapse Pyar Karte Hai

लम्हे जुदाई के बेकरार करते है,
हालात मेरे मुझे लाचार करते है,
आँखे मेरी पढ़ लो कभी,
हम खुद कैसे कहे की आपसे प्यार करते है…


Lamhe judai ke bekarar kerte hai,
Haalat mere mujhe laachar karte hai,
Aankhe meri pad lo kabhi,
Hum khud kaise kahe ki aapse pyaar karte hai…


Hum Aapse Pyar Karte Hai
Hum Aapse Pyar Karte Hai

तारे है अनेक पर आज है चाँद की बारी
फूल है कई पर वह तो गुलाब है हमारी
उनकी एक मुस्कान पे क़ुर्बान है ज़िन्दगी सारी
और उनकी पलकों की छांव में जन्नत है हमारी


Taare hai anek par aaj hai chand ki baari
Phool hai kai par woh toh gulab hai humari
Unki ek muskaan pe kurbaan hai zindagi saari
Aur unki palko ki chhaon mein jannat hai humari…


आँखों में समा जाओ इस दिल में रहा करना
तारों में हँसा करना फूलों में खिला करना
जबसे तुम्हे देखा है जबसे तुम्हें पाया है
कुछ होश नहीं मुझको एक नशा सा छाया है
अब बात जो करनी है आँखों से कहा करना


Aankho me samaa jao is dil me raha karna
taaron me hasa karna phoolon me khila karna
jabse tumhe dekha hai jabse tumhe paya hai
kuch hosh nahi mujhko ek nasha sa chaya hai
ab baat jo karni ho aankhon se kaha karna…

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published.