Judai Me Ashq Bhar Gayi Hai

पलकों के किनारे हमने भिगोए ही नहीं
वो सोचते हैं हम रोए ही नहीं

वो पूछते हैं कि ख़्वाबों में किसे देखते हो
हम हैं कि एक उम्र से सोए ही नहीं !!


Palakon Ke Kinare Hamane Bhigoe Hi Nahi
Wo Sochate Hain Ham Roye Hi Nahi

Wo Puchhate Hain Ki Khvabon Mein Kise Dekhate Ho
Ham Hain Ki Ek Umr Se Soye Hi Nahi


Judai Me Ashq Bhar Gayi Hai
Judai Me Ashq Bhar Gayi Hai

कोई पाकर तो कोई खोकर जुदा होता है
कोई हँसकर तो कोई रोकर जुदा होता है

मगर जुदा होने का दर्द तब होता है
जब कोई किसी का होकर जुदा होता है…!!


Koi Pakar To Koi Khokar Juda Hota Hai.
Koi Hanskar To Koi Rokar Juda Hota Hai.
Magar Juda Hone Ka Dard Tab Hota Hai.
Jab Koi Kisi Ka Hokar Juda Hota Hai…!!


आपसे दिल अगर मिला न होता
आज आपसे दिल को गिला न होता

आपके दिल में भी वफ़ा होती तो
जुदाई का कोई सिलसिला न होता


Apse Dil Agar Mila Na Hota
Aaj Apse Dil Ko Gilaa Na Hota
Apke Dil Me Bhi Wafaa Hoti
To Judaai Ka Koi Silsila Na Hota

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published.