Zindagi Abhi Bahut Badi Hai

ग़म ना कर, ज़िन्दगी अभी बहुत बड़ी है,
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी पड़ी है,

बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख,
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है…


Gam Na Kar, Zindagi Abhi Bahut Badi Hai,
Chahat Ki Mehfil Tere Liye Saji Padi Hai,

Bas Ek Baar Muskura Kar To Dekh,
Taqdeer Khud Tujhse Milne Bahar Khadi Hai…


Zindagi Abhi Bahut Badi Hai
Zindagi Abhi Bahut Badi Hai

जाने गमो से सिलसिला कितना है
अब तक इस दिल को गम मिला कितना है

दिल की दीवारों पे लगी कालिख से पूछो,
अब तक ये दिल जला कितना है


Jane Gamo Se Silsila Kitna Hai
Ab Tak Is Dil Ko Gam Mila Kitna Hai

Dil Ki Diwaro Pe Lagi Kalikh Se Pucho,
Ab Tak Ye Dil Jala Kitna Hai


लोग पीते है गम को भुलाने के लिए,
लेकिन पीने से दिल की आग नहीं बुझती,

हम पीते है आपको याद करने के लिए,
क्यू की नशे में आप बेवफा नहीं लगती…


Log Peete Hai Gam Ko Bhulane Ke Liye,
Lekin Peene Se Dil Ki Aag Nahi Bujhti,

Hum Peete Hai Aapko Yaad Karne Ke Liye,
Q Ki Nashe Me Aap Bewafa Nahi Lagti…

Leave a Comment

Your email address will not be published.