Judai Me Koi Marta Nahi

राज़-ऐ-दिल न सुनना किसी को यारा
दुनिया में सब हम राज़ बदल जाते है

किसी के बिछड़ने से कोई मर नहीं जाता है
मगर जीने के अंदाज़ बदल जाते है!


Raaz-E-Dil Na Sunana Kisi Ko Yara
Duniya Mein Sab Hamraaz Badal Jate Hai

Kisi Ke Bichadne Se Koi Mar Nahi Jata
Ha Magar Jeene ke Andaaz Badal Jate Hai!



हो जुदाई का सबब कुछ भी मगर,
हम उसे अपनी खता कहते हैं,

वो तो साँसों में बसी है मेरे,
जाने क्यों लोग मुझसे जुदा कहते हैं।


Ho Judai Ka Sabab Kuchh Bhi Magar,
Ham Use Apani Khata Kahate Hain,

Wo To Sanson Mein Basi Hai Mere,
Jane Kyon Log Mujhase Juda Kahate Hain.


सपने हैं यादें है और बहुत कुछ

तुम हो तुम्हारी बातें हैं और बहुत कुछ

नहीं चाहते हम तुम को भुलाना मगर

दूरी है एक मजबूरी है और बहुत कुछ


Sapne Hain Yadain Hai Or Bahut Kuch
Tum Ho Tumhari Batain Hain Or Bahut Kuch

Nahi Chahtay Hum Tum Ko Bhulana
Magar Doori Hai Ek Majbori Hai Or Bahut Kuch

Leave a Comment

Your email address will not be published.