Mujhe Jhandu Bam De Gayi

अर्ज़ किया है:
वो कहती अपने भाइयों से, 😛
मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो; 😎
ज़रा गौर फरमाइये:
वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो; 😎
बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना, पहले कुत्ते की तरह घसीटो। 😆 😆 😆


Arj Kiya Hai,
Wo Kehti Apane Bahiyo Se, 😉
Mere Aashik KO Yun Na Peeto 😀
Jara Gaur Farmaiye,
Wo Kehti Apane Bahiyo Se, Mere Aashik KO Yun Na Peeto
Bada Jiddi Hai Ye Kamina, Pahale Kutte Ki Tarah Ghasito 😆 😆 😆


Mujhe Jhandu Bam De Gayi
Mujhe Jhandu Bam De Gayi

मेरे प्यार को बेवफाई का इनाम दे गई,
मेरे दिल को अपनी यादों का पैगाम दे गई,

मैंने कहा मेरे दिल में दर्द है तेरे बिना,
तो वो जाते-जाते “झंडूबाम” दे गई। 😆


Mere Pyar Ko Bevafai Ka Inam De Gayi,
Mere Dil Ko Apani Yadon Ka Paigam De Gayi,

Mainne Kaha Mere Dil Mein Dard Hai Tere Bina, 😮
To Wo Jate-Jate Mujhe “Jhandu-bam” De Gayi. 😆


तारीफ के काबिल हम कहाँ, चर्चा तो आपकी चलती है, सब कुछ तो है आपके पास, बस सींग और पूंछ की कमी खलती है। 🙂


Tarif Ke Kabil Ham Kahan, Charcha To Apaki Chalati Hai, Sab Kuchh To Hai Apake Pas, Bas Sing Aur Punchh Ki Kami Khalti Hai. 😉

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published.