Mera Naseeb Hi Kamaal Hai

मेरा नसीब ही कमाल है,
जो ऊपर वाले ने मुझे एक सच्चा दोस्त दिया,

जब भी ऐ दोस्त तुझे याद किया,
तुझे अपने पास पा लिया।


Mera Naseeb Hi Kamaal Hai,
Jo Upar Wale Ne Mujhe Ek Saccha Dost Diya,

Jab Bhi E Dost Tujhe Yad Kiya
Tujhe Aapne Paas Pa Liya


dosti shayari in hindi
Mera Naseeb Hi Kamaal Hai

हर वक़्त वादिओं में,
महसूस करोगे तुम मेरे दोस्त!

हम दोस्ती की वो ख़ुशबू हैं,
जो महकेंगे मरते दम तक !!


Har Wakt Wadiyo Me,
Mahasus Karoge Tum Mere Dost

Ham Bhi Dosti Ki Wo Khushbu Hai
Jo mahekenge Marte Dam Tak


दोस्ती छाओं देने वाली एक पेड़ होती है,
दुखी मन को देने वाली दवा होती है,

कैसे छोड़ सकते हैं तेरी दोस्ती,
दोस्ती के बिना हर शाम अधूरी होती है।


Dosti Chhao Dene Wali Ek Ped Hoti Hai,
Dukhi Man Ko Dene Wali Ek Dawa Hoti Hai

Kaise Chhod Sakte Hai Teri Dosti
Dosti Ke Bina Har Sham Adhuri Hoti Hai

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published.