Wo Bewafai Kar Baithe

रिश्ते हम तो दिल से निभाते रहे
पर वो तो हमें बस भुलाते रहे

बेवफ़ाई वो ऐसे करेंगे, यकीन नहीं था
फिर भी हम उनको ख्वाब में बुलाते रहे


Rishte Ham To Dil Se Nibhate Rahe
Par Wo To Hame Bas Bhulate Rahe

Bewafai Wo Aise Karenge, Yakeen Nahi Tha
Phir Bhi Ham Unko Khwab Me Bulate Rahe


Wo Bewafai Kar Baithe
Wo Bewafai Kar Baithe

जिनको भी ग़मे ए इश्क़ मे मौत मिल गयी
समझो की उसे मरने से फ़ुर्सत मिल गयी

ना रोक तू हमे अब पीने से
कुछ जाम से मेरे रूह को जन्नत मिल गयी


Jinko Bhi Gam E Ishq Se Maut Mil Gayi
Samjho Ki Use Marne se Fursat Mil Gayi

Na Rok Tu Hame Ab Pine Se
Kuch Jaam Se Mere Rooh ko Jannat Mil Gayi


ख़ुदा ना करे आपको कोई ग़म हो,
और सिर्फ ख़ुशियाँ और हँसी मिले

ग़म जब भी बढ़ चले आपकी और,
ख़ुदा करे रास्ते में उसे पहले हम मिले


Khuda Na Kare Aapko koi Gam Ho,
Aur sirf Khushiya Aur Hansi Mile.

Gam Jab bhi Badh Chale Aapki Aur,
Khuda Kare Raste me Use Pahale Ham Mile

Leave a Comment

Your email address will not be published.